मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय


मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय

सबसे आम और भयानक रूप लेने वाली समस्या है मोटापा। यह न केवल आपकी पर्सनालिटी को खराब करता है बल्कि हार्ट संबंधी रोग, थायरॉइड, लीवर आदि जैसी बड़ी बीमारियों की भी एक बड़ी वजह है। 
आजकल की दौड़भाग भरी ज़िन्दगी में लोग रोज़ी-रोटी के चक्कर में इतने व्यस्त हो जाते हैं कि अपनी सेहत पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे पाते, जिसकी वजह से उन्हें कई तरह की स्वास्थ संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, इनमें सबसे आम और भयानक रूप लेने वाली समस्या है मोटापा। यह न केवल आपकी पर्सनालिटी को खराब करता है बल्कि हार्ट संबंधी रोग, थायरॉइड, लीवर आदि जैसी बड़ी बीमारियों की भी एक बड़ी वजह है। मोटापा आपको केवल शारीरिक तौर पर हीं प्रभावित नहीं करता बल्कि आपको मानसिक रूप से भी क्षति पहुँचाता है क्यूंकि ज्यादा मोटापा बढ़ने से लोग धीरे-धीरे अपना सेल्फ कॉन्फिडेंस खो देते हैं और हर वक़्त उनके दिमाग में यह सवाल घूमते रहता है कि मोटापा कैसे कम करें?

इसलिए बेहतर होगा कि आप मोटापे को शुरूआती दौर में हीं बढ़ने से रोक दें तथा कमर और पेट कम करने के उपाय अपनाएँ। हममें से बहुत से लोग मोटापा कम करने के लिए बाज़ार में उपलब्ध कई तरह के महँगे सप्लीमेंट्स और मोटापा कम करने की दवा आदि का इस्तेमाल करते हैं जिसका सेवन हमारे स्वास्थ के लिए बहुत हीं नुक़सानदेह होता है।

मोटापे के कारण

  • अधिक मसालेदार एवं तेल युक्त भोजन का सेवन
  • स्थिर जीवनशैली
  • पर्याप्त नींद ना लेना
  • आनुवांशिकता
  • पूर्व चिकित्सा संबंधी समस्या
  • शारीरिक परिश्रम न करना (निष्क्रिय रहना)
  • मानसिक तनाव
  • हार्मोन का असंतुलन
  • मेटाबॉलिज़्म कम होना

मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय

किसी भी बीमारी में आयुर्वेदिक उपचार सबसे कारगर और अच्छा माना जाता है। आयुर्वेदिक उपचार की सबसे बड़ी ख़ासियत यह है कि इससे आपको किसी भी तरह का साइड-इफ़ेक्ट नहीं होता। कई आयुर्वेदिक उपाय मसलन जीरा और मोटापा आदि काफ़ी असरदार माने जाते हैं। 
अजवाइन का पानी-
अजवाइन का पानी न केवल मोटापा कम करता है बल्कि हमारे  शरीर की पाचन क्रिया को भी तंदरुस्त रखता है। मोटापे की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप 2 चम्मच अजवाइन को एक गिलास पानी में भिगो कर रात भर छोड़ दें. अगली सुबह इस पानी को छान लें और उसमें थोड़ा शहद मिलाकर पी जाएं। नियमित रूप से ऐसा करने से आपको जल्द लाभ मिलेगा।
दालचीनी और शहद-
 मोटापा कम करने के आयुर्वेदिक उपाय में दालचीनी शहद का मिश्रण बेहद कारगर है। दालचीनी एक ऐसा हर्ब है जो हमारे शरीर में ब्लड शुगर लेवल को सामान्य कर वजन कम करने में मदद करता है। यह मिश्रण तैयार करने के लिए एक कप गर्म पानी में आधा चम्मच दालचीनी मिलाकर आधे घंटे के लिए छोड़ दें। आधे घंटे बाद इसमें एक चम्मच शहद मिलाएं। सुबह के समय खाली पेट इसका आधा कप पी जाएं और शेष बचे पानी को फ्रीज में रख दें। रात को बिस्तर पर जाने से पहले बचे हुए पानी को पी जाएं।
नींबू का रस- 
मोटापा कम करने के घरेलू उपाय में नींबू सबसे आसान और बाहर हीं असरदार है। नींबू हमारे पाचन में सुधार कर, शरीर से अत्यधिक चर्बी को खत्म करता है। इस उपाय को करने के लिए एक गिलास पानी में 3 चम्मच नींबू का रस, एक चम्मच शहद और आधा चम्मच काली मिर्च पाउडर डाल कर अच्छी तरह मिला लें। सुबह खाली पेट इसे पिएं, नियमित रूप  से इसका उपयोग करें जल्द लाभ मिलेगा।
करी पत्त्ता – करी पत्त्ता हमारे शरीर के अत्यधिक चर्बी को खत्म करने के साथ-साथ कॉलेस्ट्रॉल के स्तर को भी कम करता है। मोटापा घटाने के घरेलू उपाय के लिए आप रोज़ाना सुबह अपने भोजन में कम से कम 10 करी पत्त्ता जरूर शामिल करें।
ग्रीन टी – 
अनेक पोषक तत्वों से भरपूर ग्रीन टी मोटापा कम करने के लिए बेहतरीन विकल्प हो सकता है। रोज़ाना 3-4 कप ग्रीन टी का सेवन आपके लिए असरदार उपाय रहेगा।
जीरा और मोटापा – मोटापा कम करने के घरेलू नुस्खों में जीरा एक बहुत हीं बेहतरीन विकल्प है। जीरा हमारे शरीर से फालतू चर्बी खत्म करने के साथ-साथ कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी बढ़ाता है। जीरे का उपाय करने के लिए आप सबसे पहले एक लीटर  पानी लें और उसमेँ 2 चम्मच जीरा डालें। अब रात भर इसे ऐसे हीं छोड़ दें। अगली सुबह पानी छान कर पी जाएं। या फिर आप दही के साथ भी जीरा पाउडर का सेवन कर सकते हैं।

मोटापा कम करने के लिए व्यायाम

वज़न बढ़ने की एक वजह शारीरिक गतिविधियों का ना होना भी है। हमारा शरीर मशीन की तरह है जितना ज्यादा चलेगा उतना एक्टिव रहेगा, काम न होने पर इसमें ज़ंग लग जाता है.  व्यायाम करने से हमारे शरीर का फैट बर्न होता है और हम आंतरिक रूप से स्वस्थ रहते हैं । वज़न बढ़ने की एक वजह शारीरिक गतिविधियों का ना होना भी है। हमारा शरीर मशीन की तरह है जितना ज्यादा चलेगा उतना एक्टिव रहेगा, काम न होने पर इसमें ज़ंग लग जाता है. इसलिए ज़रूरी है नियमित रूप से व्यायाम करने की इससे हमारे शरीर से फैट बर्न होता है और हम आंतरिक रूप से स्वस्थ रहते हैं। दरअस्ल, व्यायाम ही मोटापा कम करने की दवा है।

  1. सप्ताह में 150 – 300 मिनट तक व्यायाम करने की आवश्यकता होगी। अगर शरीर या वज़न में कोई परिवर्तन न दिखे तो आप व्यायाम के समय में वृद्धि करें।
  2. हाई इंटेंसिटी वाले वर्कऑउट्स –  कम समय में तीव्र वर्कऑउट्स करने से हमारे शरीर पर जमा फैट धीरे-धीरे बर्न होने लगता है और हमारा मोटापा कम हो जाता है।
  3. पैदल चलें – पैदल चलना मोटापा कम करने में बहुत हीं लाभदायक है इसीलिए  आप रोज़ाना कम से कम 20 मिनट तेज़ी से पैदल चलें।
  4. रस्सी कूदें – रस्सी कूदना न केवल हमारे वज़न को कम करता है बल्कि हमारे स्वास्थ के लिहाज़ से भी अच्छा है। आप एक छलांग लगाने वाली रस्सी लें और उसकी मदद से कूदना शुरू करें.
  5. स्विमिंग – मोटापा कम करने के लिए स्विमिंग बहुत हीं अच्छा वर्कआउट है। यह चर्बी कम करने के साथ-साथ फिटनेस भी बनाए रखता है।
  6. डांस – डांस भी एक तरह का व्यायाम हीं है जिससे हम मोटापा घटाने का काम कर सकते हैं. आप रोज़ाना आधा घंटा डांस करें, इससे आपके शरीर का फैट बर्न होगा।
  7. ज्यादा-से ज्यादा शारीरिक मेहनत करें।
  8. अगर आप स्वयं व्यायाम नहीं कर पा रहें तो आप जिम जा सकते हैं, जहाँ ट्रेनर आपको आपके शरीर और वज़न के अनुसार व्यायाम सिखाएगा। लेकिन आप जिम नहीं जा सकते तो वज़न घटाने के लिए ऊपर दिए गए इन टिप्स की मदद ले सकते हैं.

मोटापा कम करने के लिए योगासन

योग न केवल व्यक्ति को शारीरिक बल्कि मानसिक रूप से भी स्वस्थ रखता है। अगर आप भी सोच रहे है कि मोटापा कैसे घटाएं? तो हम आपको बता दें कि योग एक ऐसा माध्यम है जिससे आप अपनी छोटी-बड़ी हर तरह की स्वास्थ सम्बन्धी समस्या  का समाधान पा सकते हैं। जितने भी फैट कम करने के उपाय हैं, उनमें उनमें योग व आसन सर्वश्रेष्ठ माने जाते हैं।
कपालभाति
एक चटाई लें और सामान्य मुद्रा में बैठ जाएं। अब अपने दाएँ पैर को बाएँ जांघ के ऊपर और बाएँ पैर को दाएँ जांघ के ऊपर रखें। इस आसान में बैठने के बाद साँस को बाहर छोड़ते हुए, पेट को अंदर धकेले। रोज़ाना सुबह 5 मिनट तक इस प्राणायाम को करें।
अनुलोम-विलोम
सामान्य मुद्रा में पालथी लगा कर बैठ जाएं। अब अपने दाएँ घुटने पर दाएँ हाथ को टिका लें। अब अपने बाएँ हाथ के अंगूठे से नाक के बाएँ छिद्र को बाधित कर दें  और दाएँ छिद्र से तेज़ साँस अंदर की तरफ लें। अब इसी प्रक्रिया को दूसरे भाग से भी करें। प्राणायाम की इस प्रक्रिया को दस से पंद्रह बार तक दोहराएँ।
नौकासन
इस आसान को करने के लिए सबसे पहले आप अपनी पीठ के बल लेट जाएं। अब अपनी एड़ी और पंजे को मिलाएं, लेकिन ध्यान रहे कि आपके हाथ आपके शरीर में सटे रहें। अब धीरे-धीरे दोनों हाथ, गर्दन और पैरों को सामांतर उठाएँ जिससे आपके शरीर का पूरा भार आपके नितंब पर आ जाए। अब इसी अवस्था में 30 सेकंड तक रुकने के बाद वापस शरीर को नीचे की ओर लाएं। इस प्रक्रिया चार से पाँच बार दोहराएं।
बालासन
सबसे पहले आप वज्रासन की मुद्रा में बैठ जाएं। अब एक लम्बी साँस लेते हुए आगे की ओर ऐसे झुकें कि आपका सिर ज़मीन से और छाती आपकी जाँघों को छुएं। कुछ इसी अवस्था में बैठे रहने के बाद वापस अपनी स्थिति में आ जाएं। बालासन की प्रक्रिया को पांच बार दोहराएं।

अगर आप लम्बे समय से मोटापे से जूझ रहे हैं और आयुर्वेदिक उपचार, व्यायाम, योग आदि के इस्तेमाल से भी किसी तरह का लाभ नहीं मिल रहा तो एक बार डॉक्टर से जरूर जाँच करा लें। उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दिए गए  मोटापा कम करने के उपाय आपके लिए लाभकारी रहेंगे।

मोटापा कम करने के लिए डाइट
आमतौर पर ऐसी मान्यता होती है कि खाना छोड़ देने से व्यक्ति का मोटापा कम हो जाएगा जबकि ऐसा बिलकुल नहीं है। ऐसा करने से हम केवल शारीरिक तौर पर कमज़ोर होते हैं जरूरत है तो हमारे भोजन की कुछ ऐसी चीज़ें छोड़ने कि जो मोटापे को बढ़ावा देती हैं इसीलिए अगर आप भी मोटापा कम करने कि सोच रहे तो यह जानना बेहद जरूरी है कि कौन-कौन सी चीज़ें न खाएं?

मोटापा कम करने में सहायक है यह स्पेशल चाय::
एक चम्मच सूखा अदरक पाउडर, आधा चम्मच धनिया पाउडर, दो चम्मच गुड़, आधा चम्मच सौंफ, एक टी बैग और एक कप पानी। सौंफ को दो मिनट पानी में उबालिए और गर्म पानी में 1 मिनट के लिए टी बैग डालें। इससे फ्लेवर आ जाएगा। और चाय का स्वाद भी कुछ बदल जाएगा जो पीने में अच्छा लगेगा। आखिर में सारे पदार्थ इसमें मिला दें और गुड़ मिलाकर इसे घोलें। जब गुड़ मिल जाए तो स्वाद के साथ पीएं।

क्या ना खाएं ?

  • मोटापा कम करना है तो आप मीठे भोजन का सेवन कम कर दें। आप खाने में चीनी के स्थान पर शहद लें।
  • चीज़ और  मक्खन जैसे दूध से बने उत्पादों का सेवन ना करें लेकिन आप गर्म दूध पी सकते हैं।
  • ठन्डे पेय का उपयोग ना करें इसकी जगह आप गर्म कॉफी या चाय ले सकते हैं।
  • ठंडा पानी पीने की जगह गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें।
  • जंक फूड्स बिलकुल न खाएं। इसकी जगह आप अंकुरित अनाज का सेवन कर सकते हैं।
  • ऊपर दिए गए खाद्य-पदार्थों को छोड़ कर आप बाकि सब कुछ खा सकते हैं, लेकिन आपको कुछ और भी बातों का ध्यान रखने की आवश्यकता है। 
  • अक्सर मोटापा कम करने के उपाय की शुरुआत लोग अपने डाइट से करते हैं, लेकिन सही जानकारी के अभाव में वे गलत निर्णय लेने लग जाते हैं जिसका उल्टा परिणाम उनके स्वास्थ पर पड़ता है।
  • ब्रेकफास्ट न छोड़ें
  • सब्ज़ियों का भरपूर सेवन करें।
  • कैलोरी फ्री पेय पदार्थों का उपयोग करें।
  • भोजन के बीच में अंतर रखें।
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पीते रहें।
  • लम्बे समय तक भूखे न रहें।

मोटापा कम करने के 50 आयुर्वेदिक उपाय

मोटापा कम करने के उपाय, घरेलू नुस्खे
1 : नींबू 
  • 25 ग्राम नींबू के रस में 25 ग्राम शहद मिलाकर 100 ग्राम गर्म पानी के साथ प्रतिदिन सुबह-शाम पीने से मोटापा दूर होता है।
  • एक नींबू का रस प्रतिदिन सुबह गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से मोटापे की बीमारी दूर होती है।।
  • 1 नींबू का रस 250 ग्राम पानी में मिलाकर थोड़ा सा नमक मिलाकर सुबह-शाम 1-2 महीने तक पीएं। इससे मोटापा दूर होता है।
  • नींबू का 25 ग्राम रस और करेला का रस 15 ग्राम मिलाकर कुछ दिनों तक सेवन करने से मोटापा नष्ट होता है।
  • 250 ग्राम पानी में 25 ग्राम नींबू का रस और 20 ग्राम शहद मिलाकर 2 से 3 महीने तक सेवन करने से अधिक चर्बी नष्ट होती है।
  • 1-1 कप गर्म पीनी प्रतिदिन सुबह-शाम भोजन के बाद पीने से शरीर की चर्बी कम होती है। इसके सेवन से चर्बी कम होने के साथ-साथ गैस, कब्ज, कोलाइटिस (आंतों की सूजन) एमोबाइसिस और कीड़े भी नष्ट होते हैं।
2 : सेब और गाजर 
  • सेब और गाजर को बराबर मात्रा में कद्दूकस करके सुबह खाली पेट 200 ग्राम की मात्रा में खाने से वजन कम होता है और स्फूर्ति व सुन्दरता बढ़ती है। इसका सेवन करने के 2 घंटे बाद तक कुछ नहीं खाना चाहिए।
3 : मूली
  • मूली का चूर्ण 3 से 6 ग्राम शहद मिले पानी में मिलाकर सुबह-शाम पीने से मोटापे की बीमारी से छुटकारा मिलता है।
  • मूली के 100-150 ग्राम रस में नींबू का रस मिलाकर दिन में 2 से 3 बार पीने से मोटापा कम होता है।
  • मूली के बीजों का चूर्ण 6 ग्राम और ग्राम यवक्षार के साथ खाकर ऊपर से शहद और नींबू का रस मिला हुआ एक गिलास पानी पीने से शरीर की चर्बी घटती है।
  • 6 ग्राम मूली के बीजों के चूर्ण को 20 ग्राम शहद में मिलाकर खाने और लगभग 20 ग्राम शहद का शर्बत बनाकर 40 दिनों तक पीने से मोटापा कम होता है।
  • मूली के चूर्ण को शहद में मिलाकर सेवन करने से मोटापा दूर होता है।
4 : मिश्री 
  • मिश्री, मोटी सौंफ और सुखा धनिया बराबर मात्रा में पीसकर एक चम्मच सुबह पानी के साथ लेने से अधिक चर्बी कम होकर मोटापा दूर होता है।
5 : चूना
  • बिना बुझा चूना 15 ग्राम पीसकर 250 ग्राम देशी घी में मिलाकर कपड़े में छानकर सुबह-शाम 6-6 ग्राम की मात्रा में चाटने से मोटापा कम होता है।
6 : सहजन 
  • सहजन के पेड़ के पत्ते का रस 3 चम्मच की मात्रा में प्रतिदिन सेवन करने से त्वचा का ढीलापन दूर होता है और चर्बी की अधिकता कम होती है।
7 : शहद
  • 120 से 240 ग्राम शहद 100 से 200 मिलीलीटर गुनगुना पानी के साथ दिन में 3 बार लेने से शरीर का थुलथुलापन दूर होता है।
8 : तुलसी
  • तुलसी के कोमल और ताजे पत्ते को पीसकर दही के साथ बच्चे को सेवन कराने से अधिक चर्बी बनना कम होता है।
  • तुलसी के पत्तों के 10 ग्राम रस को 100 ग्राम पानी में मिलाकर पीने से शरीर का ढीलापन व अधिक चर्बी नष्ट होती है।
  • तुलसी के पत्तों का रस 10 बूंद और शहद 2 चम्मच को 1 गिलास पानी में मिलाकर कुछ दिनों तक सेवन करने से मोटापा कम होता है।
9 : बेर
  • बेर के पत्तों को पानी में काफी समय तक उबालकर पीने से चर्बी नष्ट होती है।
10 : टमाटर
  • टमाटर और प्याज में थोड़ा-सा सेंधानमक डालकर खाना खाने से पहले सलाद के रूप में खाने से भूख कम लगती है और मोटापा कम होता है।
11 : त्रिफला
  • रात को सोने से पहले त्रिफला का चूर्ण 15 ग्राम की मात्रा में हल्के गर्म पानी में भिगोकर रख दें और सुबह इस पानी को छानकर शहद मिलाकर कुछ दिनों तक सेवन करें। इससे मोटापा जल्दी दूर होता है।
  • त्रिफला, त्रिकुटा, चित्रक, नागरमोथा और वायविंडग को मिलाकर काढ़ा में गुगुल को डालकर सेवन करें।
  • त्रिफले का चूर्ण शहद के साथ 10 ग्राम की मात्रा में दिन में 2 बार (सुबह और शाम) पीने से लाभ होता है।
  • 2 चम्मच त्रिफला को 1 गिलास पानी में उबालकर इच्छानुसार मिश्री मिलाकर सेवन करने से मोटापा दूर होता है।
  • त्रिफला का चूर्ण और गिलोय का चूर्ण 1-1 ग्राम की मात्रा में शहद के साथ चाटने से पेट का बढ़ना कम होता है।
12 : गिलोय
  • गिलोय, हरड़, बहेड़ा और आंवला मिलाकर काढ़ा बनाकर इसमें शुद्ध शिलाजीत मिलाकर खाने से मोटापा दूर होता है और पेट व कमर की अधिक चर्बी कम होती है।
  • गिलोय 3 ग्राम और त्रिफला 3 ग्राम को कूटकर चूर्ण बना लें और यह सुबह-शाम शहद के साथ चाटने से मोटापा कम होता है।
  • गिलोय, हरड़ और नागरमोथा बराबर मात्रा में मिलाकर चूर्ण बना लें। यह 1-1 चम्मच चूर्ण शहद के साथ दिन में 3 बार लेने से त्वचा का लटकना व अधिक चर्बी कम होता है।
13 : जौ
  • जौ का रस व शहद को त्रिफले के काढ़े में मिलाकर पीने से मोटापा समाप्त होता है।
14 : दही
  • दही को खाने से मोटापा कम होता है।
15 : छाछ
  • छाछ में कालानमक और अजवायन मिलाकर पीने से मोटापा कम होता है।
16 : आलू
  • आलू को उबालकर गर्म रेत में सेंकर खाने से मोटापा दूर होता है।
16 : पालक
  • पालक के 25 ग्राम रस में गाजर का 50 ग्राम रस मिलाकर पीने से शरीर का फैट (चर्बी) समाप्त होती है। 50 ग्राम पालक के रस में 15 ग्राम नींबू का रस मिलाकर पीने से मोटापा समाप्त होता है।
17 : पानी
  • भोजन से पहले 1 गिलास गुनगुना पानी पीने से भूख का अधिक लगना कम होता है और शरीर की चर्बी घटने लगती है।
  • बासी ठंडे पानी में शहद मिलाकर प्रतिदिन पीने से मोटापा में लाभ मिलता है।
  • 250 ग्राम गुनगुने पानी में 1 नींबू का रस और 2 चम्मच शहद मिलाकर खाली पेट पीना चाहिए। इससे अधिक चर्बी घटती है और त्वचा का ढीलापन दूर होता है।
18 : बबूल
  • बबूल के पत्तों को पानी के साथ पीसकर शरीर पर करने से त्वचा का ढीलापन दूर होकर मोटापा कम होता है।
19 : अनन्नास
  • प्रतिदिन अनन्नास खाने से स्थूलता नष्ट होती है क्योंकि अनन्नास चर्बी को नष्ट करता है।
20 : बेल
  • बेल के पत्ते और हरड़ बारीक पीसकर लगाने से मोटापा दूर होता है।
21 : परवल
  • परवल और चीते का काढ़ा बनाकर सौंफ और हींग का चूर्ण मिलाकर सेवन करने से मोटापा कम होता है।
22 : ईसबगोल
  • ईसबगोल के नियमित सेवन करने से कोलेस्ट्राल नियंत्रित होता है और शरीर में अधिक चर्बी नहीं बनती।
23 : रस
  • फलों का रस बहुत उपयोगी है। मोटापा कम करने के लिए 6 से 8 महीने तक फलों का रस लेना लाभदायक होता है। इसके सेवन से किसी भी प्रकार के दुष्परिणामों का सामना नहीं करना पड़ता। 
  • फलों का रस कैलोरी को कम करता है जिससे स्वभाविक रूप से वसा कम हो जाती है। इससे शरीर का वजन और मोटापा कम होता है। 
  • गाजर, ककड़ी, पत्तागोभी, टमाटर, तरबूज, सेब व प्याज का रस फायदेमंद होता है।
24 ; अजवायन
  • अजवायन 20 ग्राम, सेंधानमक 20 ग्राम, जीरा 20 ग्राम और कालीमिर्च 20 ग्राम को कूटकर चूर्ण बना लें और यह चूर्ण प्रतिदिन सुबह खाली पेट छाछ के साथ पीएं। इससे शरीर की अधिक चर्बी नष्ट होती है।
25 :  करेला
  • करेले के रस में 1 नींबू का रस मिलाकर सुबह सेवन करने से शरीर की चर्बी कम होती है।
26 : चावल
  • चावल का गर्म-गर्म मांड लगातार कुछ दिनों तक सेवन करने से मोटापा दूर होता है।

About allinoneindia.net


Welcome to All In One India | allinoneindia.net is a junction , where you opt for different service and information.

Follow Us


© 2016 to 2018 www.allinoneindia.net , All rights reserved.