क्या हैवान बनेगा


क्या हैवान बनेगा

बच्चे अनाथ होंगे, पत्नी विधवा होगी,
जवानी में मरेगा, कहां बुढ़ापे का सुख मिलेगा,
ऐ पीने वाले बता, तुझे पीके क्या मिलेगा ?

क्या हैवान बनेगा

शराब खराब है तू इसको पीयेगा ?
ऐ पीने वाले बता, तुझे पीके क्या मिलेगा ?

बच्चे अनाथ होंगे, पत्नी विधवा होगी,
वे रोयेंगे जिन्दगी भर, तेरी उमर आधी होगी।
जवानी में मरेगा, कहां बुढ़ापे का सुख मिलेगा,
ऐ पीने वाले बता, तुझे पीके क्या मिलेगा ?

तबाही, भूखमरी, नई-नई बीमारी मिलेगी,
इक दिन लेके तुझे, गन्दी नाली में गिरेगी ।
जो गले इसके लगेगा, नर्क जीवन मिलेगा,
ऐ पीने वाले बता, तुझे पीके क्या मिलेगा ?

तेरी बुद्धि भ्रष्ट होगी, सम्पत्ति नष्ट होगी,
कंगाल बन के तू जुए और रिश्वत का होगा आदी।
कर्जदार बनके सर-भार मां-बाप पे बनेगा,
ऐ पीने वाले बता, तुझे पीके क्या मिलेगा ?

श्रोमन साम्राज्य को इसी सुरा ने मिट्टी में मिलाया,
कितने वीर योद्धा पराक्रमी को, अपना निशाना बनाया ।
‘प्रियतम‘ इसे पीके अब क्या हैवान बनेगा,
ऐ पीने वाले बता, तुझे पीके क्या मिलेगा ?
रमेश चन्द्र सिंह ‘‘प्रियतम‘‘ शिवपुरी फतेहपुर
अध्यक्ष, नशामुक्ति जन जागरण अभियान समिति



© 2016 to 2018 www.allinoneindia.net , All rights reserved.