फीफा वर्ल्ड कप का क्रेज


फीफा वर्ल्ड कप का क्रेज

रूस में आयोजित 21वें विश्व कप के लिए इस टूर्नामेंट में हिस्सा ले रही सभी टीमें पूरी तरह से तैयार है। 14 जून से शुरू हो रहे  इस टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला 15 जुलाई को खेला जाएगा। इस टूर्नामेंट में कुल 32 टीमें हिस्सा ले रही हैं। रूस को मेजबान होने की वजह से सीधे प्रवेेश मिला गया। 

फीफा वर्ल्ड कप कवर करने पहुंची महिला रिपोर्टर के साथ आपत्तिजनक हरकत

रूस में चल रहे फीफा वर्ल्ड कप में LIVE रिपोर्टिंग कर रही एक महिला पत्रकार के साथ एक सिरफिरे ने आपत्तिजनक हरकत कर दी। जिसका वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। लाइव रिपोर्टिंग के दौरान एक सिरफिरा वहां आया, उसने अपना एक हाथ उस रिपोर्टर के कंधे पर और दूसरा हाथ उसके सीने पर रखते हुए उसे गालों पर किस कर लिया और वहां से भाग गया। खास बात ये है कि घटना के बाद भी महिला रिपोर्टर घबराई नहीं और उसने खुद को संभालते हुए LIVE जारी रखा। हालांकि बाद में उसने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर गुस्सा जताया। उधर बाद में उस सिरफिरे ने भी माफी मांग ली। महिला रिपोर्टर ने लिखी ये बात...
  • बदसलूकी की ये घटना जर्मनी की टीवी रिपोर्टर जुलिएथ गोंजालेज के साथ हुई, जब वो अपने चैनल के शो पर स्टेडियम के बाहर का हाल बता रही थी।
  • महिला रिपोर्टर जुलिएथ के साथ जब ये घटना हुई, तब तो उसने खुद को संभाल लिया लेकिन बाद में अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर उसी वीडियो को शेयर करते हुए उसने अपना गुस्सा निकाला।
  • जुलिएथ ने घटना का वीडियो इंस्टाग्राम पर शेयर करते हुए लिखा, 'सम्मान! हम इस तरह के खराब व्यवहार के हकदार नहीं हैं। हमारा काम भी अहम है और हम भी बराबरी से प्रोफेशनल्स हैं। मैं फुटबॉल की खुशी को शेयर करती हूं लेकिन हमें प्यार और शोषण के बीच की हद को पहचानने की जरूरत है।'
  • रिपोर्टर ने आगे लिखा, 'मैं घटनास्थल पर ब्रॉडकास्ट के लिए करीब 2 घंटे तक रही और किसी तरह की कोई परेशानी नहीं थी। फिर हमने लाइव किया और फैन ने इसी का फायदा उठाया। मैंने बाद में उसे ढूंढा भी लेकिन वो नहीं मिला।' बता दें कि जुलिएथ गोंजालेज कोलंबिया से हैं और बर्लिन में रहती हैं।
  • हालांकि बाद में उस सिरफिरे रूसी फुटबॉल फैन ने महिला के ऑफिस में वीडियो कॉल करते हुए माफी मांग ली। सिरफिरे फैन के मुताबिक उसने अपने दोस्त से रिपोर्टर के गाल पर किस करने की शर्त लगाई थी। 
  • माफी मांगते हुए सिरफिरे ने कहा, 'मैं आपसे तहेदिल से माफी मांगता हूं। मैंने लापरवाही से काम किया और मैंने यह नहीं सोचा था कि इससे आपको कितनी परेशानी होगी।'

अर्जेंटीना की जीत से माराडोना हुए बेहोश

वर्ल्ड कप के शुरूआत में अर्जेंटीना और लियोनल मेसी के प्रदर्शन से एक तरफ जहां फैंस उदास तो थे ही लेकिन अर्जेंटीना के पहले मैच में स्टेडियम में बैठ कर सिगार पीने वाले अर्जेंटीना के दिग्गज खिलाड़ी डिएगो माराडोना को भी काफी धक्का लगा था. लेकिन कल के मैच में अर्जेंटीना के लिए सबुकछ पलट गया. नाइजीरिया के विरूद्द खेलते हुए उस पल का इंतजार आखिरकार फैंस के लिए खत्म हो गया जब लियोनल मेसी ने इस वर्ल्ड कप का अपना पहला गोल ठोका.

अर्जेंटीना और नाइजेरिया के बीच यह अहम मुकाबला आखिरी पलों तक 1-1 की बराबरी पर अटका था. हालांकि तभी 87वें मिनट में मार्कोस रोजो ने शानदार गोल कर अर्जेंटीना को नॉकआउट दौर में जगह दिला दी.

अर्जेंटीना की जीत से जहां पूरी स्टेडियम झूमने लगा था कि तो वहीं मैच देख रहे अर्जेंटीना के दिग्गज खिलाड़ी डिएगो माराडोना भी स्टेडियम में मौजूद थे. माराडोना सेंट पीटर्सबर्ग स्टेडियम के लग्जरी बॉक्स में बैठकर इस हाई वोल्टेज मुकाबले का लुत्फ उठा रहे थे. वो अर्जेंटीना की जीत से इतने उत्साहित हो गए कि बीमार पड़ गए.

माराडोना की सेहत पर अभी तक कोई जानकारी नहीं दी गई है। लेकिन इस घटना के 2 घंटे बाद माराडोना की एक मुस्कुराती हुई फोटो ऑनलाइन पोस्ट की गई, जिसमें वह मैच के बाद एयरपोर्ट पर हैं और बिल्कुल स्वस्थ दिख रहे हैं. नाइजीरिया पर 2-1 से जीत दर्ज की, तो माराडोना खुशी को संभाल नहीं पाए. सोशल मीडिया पर माराडोना का इमोशनल होकर बेसुध होने वाला वीडियो खूब वायरल हो रहा है. इस वीडियो में दिख रहा है कि माराडोना अर्जेंटीना की जीत के बाद एक पल के लिए बेहोश हो गए और उनकी आंखें बंद हो गईं. बाद में उन्हें स्टेडियम में बने रूम में ले जाया गया.

माराडोना ने 1986 में अपनी टीम अर्जेंटीना को फीफा वर्ल्ड कप दिलवा चुके हैं.

फीफा वर्ल्ड कप 2018

फीफा वर्ल्ड कप 2018 के लिए कल का दिन काफी शानदार रहा. फीफा में कल कुल 4 मैच खेले गए जिसमें प्री-क्वार्टर फाइनल में आस्ट्रेलिया के पहुंचने के सपने को पेरू ने तोड़ दिया. तो वहीं क्रोएशिया ने आइसलैंड को 2-1 से मात दी. जबकि मेसी, रोजो के गोल से अर्जेटीना अंतिम-16 में पहुंच गई. फ्रांस से गोलरहित ड्रॉ खेलकर डेनमार्क ने भी अंतिम 16 में जगह बना ली. इन मैचों में सबसे बेहतरीन मैच अर्जेंटीना और नाइजीरिया का रहा जहां लियोनल मेसी ने इस वर्ल्ड कप का अपना पहला गोल कर खाता खोला.
पेरू VS ऑस्ट्रेलिया
फीफा वर्ल्ड कप के कल हुए मुकाबले में पेरू ने आस्ट्रेलिया के प्री-क्वार्टर फाइनल में पहुंचने के सपने को तोड़ दिया. पेरू ने मंगलवार को फिश्ट स्टेडियम में खेले गए ग्रुप-सी के मैच में आस्ट्रेलिया को अपने खेल के दम पर 2-0 से मात देकर टूर्नामेंट से मायूसी के साथ विदा किया और खुद विजयी विदाई ली. आस्ट्रेलिया को अगले दौर में जाने के लिए इस मैच में बड़े अंतर से जीत चाहिए थी और साथ ही इसी ग्रुप में फ्रांस और डेनमार्क के बीच खेले गए दूसरे मैच में डेनमार्क की हार की दुआ करनी थी.
आस्ट्रेलिया जो चाहती थी वो हुआ नहीं. वह अपना मैच भी हार गई और उधर डेनमार्क ने फ्रांस के साथ गोलरहित ड्रॉ खेला. इस ग्रुप से फ्रांस ने सात अंकों के साथ पहले और डेनमार्क ने पांच अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रहकर अंतिम-16 में प्रवेश किया. पेरू की यह इस वर्ल्ड कप में पहली जीत है और वह तीन अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहकर विदा ले रहा है. आस्ट्रेलिया एक अंक के साथ चौथे स्थान पर रहा.
फ्रांस VS डेनमार्क
डेनमार्क ने फीफा वर्ल्ड कप के ग्रुप-सी के मैच में मंगलवार को फ्रांस के साथ गोलरहित ड्रॉ खेलकर फीफा वर्ल्ड कप के अंतिम-16 में प्रवेश कर लिया है. इस वर्ल्ड कप का यह पहला गोलरहित ड्रॉ मैच है. इस ड्रॉ के बाद अब डेनमार्क के पांच अंक हो गए हैं और अपने ग्रुप से अंतिम-16 में पहुंचने वाली दूसरी टीम बन गई है. वहीं फ्रांस पहले ही अंतिम-16 में पहुंच चुकी है लेकिन इस मैच में गोलरहित ड्रॉ रहने के बाद उसके सात अंक हो गए हैं. फ्रांस अपने ग्रुप में तीन मैचों में दो जीत और एक ड्रॉ साथ शीर्ष पर रहा.
ग्रुप-सी से पेरु और आस्ट्रेलिया बाहर हो चुकी है. पेरु के तीन मैचों में तीन अंक रहे जबकि आस्ट्रेलिया के नाम तीन मैचों में एक ड्रॉ और दो हार के बाद एक अंक रहा.
अर्जेंटीना VS नाइजीरिया
मार्कोस रोजो द्वारा 86वें मिनट में किए गए बेहतरीन गोल के दम पर अर्जेटीना ने मंगलवार देर रात खेले गए फीफा वर्ल्ड कप के ग्रुप-डी के मैच में नाइजीरिया को 2-1 से मात देकर अंतिम-16 में जगह बना ली है.
यह अर्जेटीना की इस वर्ल्ड कप में पहली जीत है. पहले मैच में उसने आइसलैंड से 1-1 से ड्रॉ खेला था तो वहीं दूसरे मैच में उसे क्रोएशिया से 3-0 से हार मिली थी.
इसी कारण अर्जेटीना के अगले दौर में जाने पर संकट था. उसे इस मैच में जीत चाहिए थी और साथ ही दुआ करनी थी कि ग्रुप के दूसरे मैच में क्रोएशिया आइसलैंड को मात दे. इस दिन सब कुछ अर्जेटीना के पक्ष में हुआ. उसने नाइजीरिया को हराया तो वहीं क्रोएशिया ने आइसलैंड को 2-1 से हरा दिया.

क्रोएशिया VS आइसलैंड

क्रोएशिया ने मंगलवार देर रात खेले गए फीफा वर्ल्ड कप के ग्रुप-डी में रोस्टोव एरिना में खेले गए मैच में पहला वर्ल्ड कप खेल रही आइसलैंड को 2-1 से मात देकर ग्रुप दौर का अंत पहले स्थान के साथ किया है. इस हार से आइसलैंड का सफर निराशा के साथ खत्म हुआ. उसने अर्जेटीना को पहले मैच में 1-1 की बराबरी पर रोक कर शानदार आगाज किया था.
इस मैच में आइसलैंड की अगले दौर में जाने की संभावनाएं थीं. इसके लिए उसे क्रोएशिया को हराना पड़ता साथ ही दुआ करनी थी कि अर्जेटीना इसी ग्रुप के दूसरे मैच में नाइजीरिया को मामूली अंतर से हरा दे. अर्जेटीना ने नाइजीरिया को 2-1 से तो हरा दिया लेकिन आइसलैंड अपना मैच नहीं जीत पाई.

फीफा ने स्विट्जरलैंड के तीन प्लेयर्स पर लगाया जुर्माना

शुक्रवार को खेले गए मैच के बाद शकीरी और उनके साथी खाका ने मैच में गोल करने के बाद जश्न के दौरान अल्बेनिया ईगल जैसा निशान बनाया था. दोनों ने अपनी हथेलियाों को बंद कर अपने सीने पर लगाया था. इसी तरह का ईगल अल्बेनिया के झंडे में है.

फुटबाल रेगुलेटरी अथॉरिटी फीफा ने वर्ल्प कप के अपने ग्रुप मैच में सर्बिया के खिलाफ 2-1 की जीत के बाद अनैतिक रूप से जश्न मनाने को लेकर स्विट्जरलैंड के तीन खिलाड़ियों शेरडन शकीरी, ग्रानिट खाका और स्टीफन लिचश्टेनियर पर संयुक्त रूप से 25000 डॉलर का जुर्माना लगाया है. फीफा ने जुर्माना लगाने के अलावा निष्पक्ष खेल के प्रति मुख्य सिद्वांतों के विपरीत अनैतिक व्यवहार को लेकर भी इन खिलाड़ियों को चेताया है.

शुक्रवार को खेले गए मैच के बाद शकीरी और उनके साथी खाका ने मैच में गोल करने के बाद जश्न के दौरान अल्बेनिया ईगल जैसा निशान बनाया था. दोनों ने अपनी हथेलियाों को बंद कर अपने सीने पर लगाया था. इसी तरह का ईगल अल्बेनिया के झंडे में है.

तीन खिलाड़ियों पर फीफा के अनुशासनात्मक संहिता के अनुच्छेद 54 के तहत आरोप लगाए गए जिसमें कहा गया, "किसी भी मैच के दौरान आम जनता को उत्तेजित करने के लिए खिलाड़ियों को दो मैचों के लिए निलंबित किया जाएगा और उस पर न्यूनतम 5000 स्विस फ्रैंक (5,063 अमेरिकी डॉलर) जुर्माना लगाया जाएगा." हालांकि ये खिलाड़ी अगले मैच से निलंबित होने से बच गए. इस बीच, भेदभावपूर्ण बैनर के लिए सर्बियाई फुटबॉल फेडरेशन पर भी 54,000 स्विस फ्ऱैंक (54,681 अमेरिकी डॉलर) का जुमार्ना लगाया गया है.


About allinoneindia.net


Welcome to All In One India | allinoneindia.net is a junction , where you opt for different service and information.

Follow Us


© 2016 to 2018 www.allinoneindia.net , All rights reserved.