गूगल का नया आपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड P


गूगल का नया आपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड P

मशहूर कंपनी गूगल अब एंड्रॉयड P ऑपरेटिंग सिस्टम जारी करेगी। ऑपरेटिंग सिस्टम को नाम अल्फाबेट के आधार पर दिया जाएगा। आईफोन यूजर्स का आकर्षण बढ़ाने के लिए कंपनी सॉफ्टवेयर का लुक चेंज करने पर काम कर रही है।
दुनिया की सबसे मशहूर कंपनी गूगल अब एंड्रॉयड P ऑपरेटिंग सिस्टम जारी करेगी। ऑपरेटिंग सिस्टम को नाम अल्फाबेट के आधार पर दिया जाएगा। आईफोन यूजर्स का आकर्षण बढ़ाने के लिए कंपनी सॉफ्टवेयर का लुक चेंज करने पर काम कर रही है।

एंड्रॉयड P ऑपरेटिंग सिस्टम 

दुनिया की सबसे मशहूर कंपनी गूगल अब एंड्रॉयड P ऑपरेटिंग सिस्टम जारी करेगी। ऑपरेटिंग सिस्टम को नाम अल्फाबेट के आधार पर दिया जाएगा। आईफोन यूजर्स का आकर्षण बढ़ाने के लिए कंपनी सॉफ्टवेयर का लुक चेंज करने पर काम कर रही है। एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम की बात करें तो एंड्रॉयड ओरियो अब तक का सबसे लेटेस्ट ओएस है। एंड्रॉयड ओरियो में कई नए फीचर्स दिए गए हैं। ज्यादातर स्मार्टफोन कंपनियां अपने डिवाइस में एंड्रॉयड ओरियो का ऑपरेटिंग सिस्टम दे रही हैं। लेकिन इसके बाद भी अभी महज 1.1 फीसदी स्मार्टफोन हैं जिनमें ये ओएस दिया गया है।

एप्पल के डिजाइन में नहीं होगा बदलाव-

खबरों के मुताबिक एप्पल इस बार आईओएस के नए वर्जन के डिजाइन में कोई बड़ा बदलाव नहीं करेगा, इसके चलते गूगल की ये रणनीति कामयाब साबित हो सकती है। माना जा रहा है कि एप्पल इस बार परफॉरमेंस और एक्सपीरियंस को बेहतर करने पर ध्यान दे रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गूगल इस बार एंड्रॉयड के नए वर्जन में आईफोन एक्स जैसा ही नॉच सपोर्ट देगा। इसके अलावा एंड्रॉयड P में मल्टिपल स्क्रीन का भी सपोर्ट दिया जा सकता है। उम्मीदें ये भी है कि सैमसंग फोल्डेबल डिस्प्ले वाला स्मार्टफोन लॉन्च कर सकता है, ऐसे में गूगल का नया ऑपरेटिंग सिस्टम यूजर को एक अलग अनुभव देगा। गूगल इस बार एंड्रॉयड में थर्ड पार्टी ऐसिस्टेंट को भी शामिल कर सकता है, इससे गूगल ऐसिस्टेंट और भी बेहतर हो सकेगा। खबरों के मुताबिक गूगल मार्च तक एंड्रॉयड P का पहला डेवेलपर प्रिव्यू जारी कर सकता है। गूगल के नए ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रॉयड पी को लेकर कई तरह की अफवाहों का बाजार गर्म है। गूगल का सबसे लेटेस्ट ऑपरेटिंग सिस्टम अभी एंड्रॉयड ओरियो है लेकिन उम्मीद की जा रही है कि गूगल जल्द अपने नए ऑपरेटिंग सिस्टम से पर्दा हटा सकता है। गूगल हर साल मई महीने में होने वाली अपनी सालाना कॉन्फ्रेंस में अपने नए प्रॉडक्ट्स को लॉन्च करता है। माना जा रहा है कि इस बार भी गूगल अपने पारंपरिक तरीके को जारी रखेगा और ऐंड्रॉयड पी का पहला डेवेलपर वर्जन जारी करेगा।

आसान भाषा में समझे तो आने वाले दिनों में डिवेलपर्स से इसके फीचर्स के बारे में खबरें सुनने को मिल सकता है। रिपोर्ट्स की माने तो एंड्रॉयड पी ऑपरेटिंग सिस्टम में कई शानदार फीचर्स शामिल होंगे, इनमें से एक कॉल ब्लॉकिंग फीचर भी होगा। इस फीचर के आने के बाद आपको अपने स्मार्टफोन पर प्रमोशनल कॉल से छुट्टी मिल जाएगी। दरअसल ये फीचर अनजान नंबर, प्राइवेट नंबर या जिन नंबरों की कॉलर आईडी नहीं होगी, उन नंबर्स को अपने आप ब्लाक कर देगा। ये नया फीचर डिफॉल्ट डायलर एप में दिया जा सकता है।

रिपोर्ट्स में इस बात का भी जिक्र है कि एंड्रॉयड पी को गूगल असिस्टेंट के साथ जोड़ा जा सकता है। इससे फोन की बैटरी लाइफ पहले की तुलना में ज्यादा मजबूत हो जाएगी। एंड्रॉयड के इस वर्जन को 'पिस्ताचियो आइसक्रीम' कहा जा रहा है। जबकि ऑफिशियली इस ऑपरेटिंग सिस्टम का अभी तक कोई भी नाम नहीं दिया गया है। इंटरनेट और सोशल मीडिया पर फैली अफवाहों के मुताबिक गूगल का नया ऑपरेटिंग सिस्टम ऑर्टिफिशिय इंटेलीजेंस पर काम करेगा। यानी इस ऑपरेटिंग सिस्टम की मदद से आपका फोन और भी ज्यादा स्मार्ट हो जाएगा। फोन आपकी आदतों को और करीब से ट्रैक करेगा, जिससे फोन को इस्तेमाल करना और भी आसान हो जाएगा।




About allinoneindia.net


Welcome to All In One India | allinoneindia.net is a junction , where you opt for different service and information.

Follow Us


© 2016 to 2018 www.allinoneindia.net , All rights reserved.