कैसे बढ़ाएँ आत्मविश्वास


कैसे बढ़ाएँ आत्मविश्वास

कोई व्यक्ति अगर शारीरिक व मानसिक रूप से अस्वस्थ होते हुये भी अगर सफलता प्राप्त करता है तो इसका Main Reason उस व्यक्ति का आत्मविश्वास होता है. अपने ऊपर विश्वस करना, अपनी शक्तियों पर विश्वास करना एक दिव्य गुण है.

क्या है आत्मविश्वास ?

मनुष्य केवल एक शरीर मात्र ही नहीं है | उसमे एक परम तेजस्वी आत्मा भी विधमान है | हमें जानना चाहिए कि मनुष्य धन, बुद्धि और स्वास्थ्य के भौतिक बलो से ही खुशिया पाई नहीं सकता, उसे आत्मबल की भी जरुरत है | आत्मबल के न होने से शरीर कि बल मात्र खिलवाड़ बनकर रह जाता है | फिर उसे कभी ख़ुशी जेसा feel नहीं हो सकता है | वे केवल तनाव, चींता का कारन बनेगे |

सबसे ज्यादा शक्तिशाली बल हैं तो वो है - आत्मबल | केवल बलवान होना ही काफी नहीं, बल का सही दिखा में सदुपयोग होना ही वह कौशल है |

जीवन के सभी जगह में सफल होने के लिए confidence (आत्मविश्वास) कि जरुरत होती है | अच्छे-से-अच्छा तैराक (पानी पर तेरने वाले) भी confidence के बिना किसी नदी को पार नहीं कर सकता | वह बिच में ही फँस जाएगा, नदी के दबाव से वह वह जाएगा अथवा हाथ-पैर अटक कर वापस लौट आएगा | जीवन में भी अनेक कठिनाइयाँ, उलझाने, अप्रिय परिस्थितिया आती रहती है अर्थात कठिनाइयाँ और उलझाने तो आती ही रहती है, इस तरह के कठिनाइयों से निपटने के लिए हमें आत्मविश्वास कि तो जरुरत होती ही है |

My dears friends, ये तो अपने सुना ही होगा कि अद्धेश्य जितना बड़ा होगा, मार्ग भी उतना ही लम्बा होगा और मुसीबते भी उतनी ही आएगी, इसलिए उतने ही प्रबल और confidence कि जरुरत होगी | संसार भी confidence का support करता है | confidence चेहरे पर वह आकर्षण बनकर फुट पड़ता है, जिससे पराये लोग भी अपने बन जाते है, अनजान भी अपनों कि तरह साथ देते है |संसार में कोई भी मनुष्य तब तक सफलता प्राप्त नहीं कर सकता, जब तक कि उसने मन में यह विश्वास न हो कि मै जिस काम को करना चाहता हूँ, उस में जरुर सफल बनूँगा |

confidence में वह ताकत है, जो हजार मुसीबतों का सामना कर, उन पर पूरी-पूरी विजय प्राप्त कर सकती है | यही मनुष्य का सच्चा मित्र और उसकी बड़ी पूँजी है | confidence मनुष्य कि शक्तियों को संगठित करके उन्हें एक दिशा में लगाना है | शारीरिक, मानसिक, शक्तिया आम्ताविश्वासी के इशारे पर नाचती है और काम करी है | जो अपनी शक्तियों का स्वामी है, नियंत्रणकर्ता है, उसे संसार में कोई भी कमी नहीं रहती, और तो और सफलता स्वयं आकर उसके दरवाजे खटखटाती है |
 
इंटरव्यू के समय या किसी मंच पर बोलते समय कई लोगो के हाथ-पैर इसलिए फूल जाते हैं क्योंकि उनको खुद पर विश्वास नहीं होता. आपके पास चाहे कितनी भी नॉलेज क्यों न हो पर यदि आप confidence नहीं है तो आपका ज्ञान आपके लिए कुछ भी नहीं. कई बार आपके सामने अपनी काबिलियत साबित करने मौका आता है और उस वक्त पर आपका आत्मविश्वास अगर हिल गया तो आपको पीछे हटना पड़ता है.
आत्मविश्वास की कमी के कारण हमारा व्यक्तित्व पर नकारात्मक असर पड़ता है. कई बार आत्मविश्वास की कमी के कारण आने वाली कई बड़ी संभावनाएं हमसे छूट जाती हैं.

आत्मविश्वास बढ़ाने के 10 आसान उपाय

अगर आप अपने आसपास या किसी भी मौके पर किसी सफल आदमी को देखते है तो आपने यह जरुर note किया होगा की उस आदमी में आपको पूरा confidence दिख जायेगा. जो भी व्यक्ति अपने जीवन में बड़े मुकाम पर पहुंचता है या सफल होता है वह हमेशा aatmvishvas से लबरेज होता है. कई एक्टर और एक्ट्रेस, राजनेता, महान क्रिकेटर, या कोई बिजनेसमैन सभी में आत्मविश्वास का गुण कूट-कूट कर भरा होता है.

कोई व्यक्ति अगर शारीरिक व मानसिक रूप से अस्वस्थ होते हुये भी अगर सफलता प्राप्त करता है तो इसका Main Reason उस व्यक्ति का आत्मविश्वास होता है. Self confidence के कारण ही अब्राहम लिंकन कई बार चुनाव हारने के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति बने उनकी यह सफलता confidence के कारण ही थी. ऐसे ही आप अगर अपने आसपास देखेंगे तो कई exmple आपको भी मिल जायेंगे.

सफल व्यक्ति को खुद पर पूर्ण रूप से विश्वास होता है जिस कारण वह सफलता जरूर प्राप्त करता है. किसी व्यक्ति में कॉन्फिडेंस कम या ज्यादा हो सकता है परन्तु आपको खुद में Self confidence बढ़ाने की पूरी कोशिश करनी चाहिए.

अपने आत्मविश्वास को मजबूत रखने और व्यक्तित्व को प्रभावशाली बनाने के लिए अगर आप अपनी सोच में ये बदलाव लाएंगे तो यकीनन सफलता आपके कदम चूमेगी.

सफल लोगो की तरह खुद को ढालें:

आपको अपने जीवन में कई ऐसे लोग जरुर मिले होंगे जिनको देखकर आपको लगा होगा की यह व्यक्ति पूरी तरह aatmvishvas से भरा हुआ है. उन लोगो की उन खास बातो को नोट जरुर करा होगा जो उनका कॉन्फिडेंस बढाती है. जैसे- चलने और बैठने के ढंग पर ध्यान दे, जो बोलना है उसे दबी आवाज में मत बोले और बाते करते वक्त नजरे मिलाये आदि . जब मैं अपने स्कूल में पढता था तो अपने से बेहतर स्टूडेंट को फॉलो करता था और उसी की तरह कई चीजे करने का प्रयास करता था. for example- class में first सीट पर बैठना, अध्यापक के पूछने पर सबसे पहले आंसर देना और साथी सहपाठियों को नयी-नयी जानकारियां देना आदि. इन चीजो से मुझे बहुत confidence मिलता था.

बीते समय में मिले अपने achievements को याद करे:

आपको अपने past में कई अचीवमेंट्स मिले होंगे. उदाहरण- आप अपने class में कभी first आये होंगे, किसी विषय में स्कूल में सबसे ज्यादा मार्क्स होंगे, किसी कॉम्पटीसन में में बेस्ट किया होगा या किसी sports में ख़िताब जीता होगा. आपका खुद पर विश्वास जब कम होता है तो उस समय आप अपने पिछले प्राप्त किये हुए achivments को याद करे यह आपका self-confidence जरुर improve करेगा.

यह महसूस करे की आप confident हैं:

कई बार हम सिर्फ इसलिए low confidence feel करते है क्योंकि हमें लगता है की मेरे अन्दर आत्मविश्वास नहीं है जो हमारा confidence और गिरा देता है तो आप किसी भी वक्त पर बिलकुल Negative न सोचे बल्कि यह सोचे की आप पूरी तरह से full-confidence है. आप अपने mind में यह imazine कर सकते है की आपकी सभी लोग तारीफ कर रहे है. वो आपकी ओर आकर्षित हो रहे है.ऐसा सोचना आपको बहुत benifit देगा.

 गलतियाँ होने पर घबराये मत:

अगर कोई व्यक्ति आपसे यह कहे की उसने अपने जीवन में कभी कोई गलती नहीं की तो आप यह समझ ले की वह व्यक्ति आपसे कोरा झूठ बोल रहा है. गलती तो इंसान ही करता है.जब वह गलती करता है तभी उस गलती से सीखता है और अगली बार वह उस काम को बेहतर ढंग से करता है. सबसे बड़ी गलती हम तब करते है जब हम कोई भी काम सिर्फ इस सोच के कारण नहीं करते कि मुझसे यह काम नहीं होगा या मुझसे कोई गलती हो जाएगी और इस सोच के कारण हम प्रयास ही नहीं करते जो हमारे लिए बहुत नुकसानदायक होता है. इसलिए गलती होने के डर से या असफल होने के डर से आप अपने बेहतरीन मौको को न गवाएं. बल्कि प्रयास करे यह आपको नयी सीख देगा.

खुद को किसी चीज में और लोगो से बेहतर बनाये: 

आज के दौर में हर आदमी औरो से कुछ अलग करना चाहता है. भगवान ने हमें कुछ ऐसा Special telent दिया है जो हमें और लोगो से अलग करता है बस जरुरत है तो उसे खोजने की. कोई भी आदमी हर फील्ड में एक्सपर्ट नहीं बन सकता लेकिन वह अपने हॉबी और interest के कुछ चीजो में expert जरुर बन सकता.
मैं जब अपने स्कूल में पढता था तो मेरे कई दोस्त singing, dancing, sports, cricket में मुझसे बेहतर थे लेकिन मैं स्कूल में पढाई में अच्छा था जो मुझे उनसे अलग बनाता था. वही आज मैं www.nayichetana.com ब्लॉग बना कर लोगो को अपने आर्टिकल, अपने विचारो व अनुभवों के द्वारा जब उनकी हेल्प करता हूँ तो यह मुझे confidence देता है.

इसलिए दोस्तों आप भी खुद के interest का कुछ ऐसा काम करिए या ऐसी हॉबी जैसे क्रिकेट, फूटबाल, डांस, म्यूजिक आदि creat करिए जो आपको आपके एरिया में सबसे अलग बनाये. अगर आप अपने ऑफिस में काम करते है तो वहां औरो से बेहतर बने, अगर स्टूडेंट हो तो अपने school or college में बेहतर बने. अगर आप किसी चीज में better होंगे तो यह आपका confidence level बहुत ही high कर देगा.

 जरुरतमंदो की सहायता करे:

आप अपने जीवन में उन लोगो के लिए कुछ अच्छा करे जो बदले में आपको कुछ नहीं दे सकते. अगर आप दुसरे लोगो की मदद करते है तो इससे आपका आत्मविश्वास बढेगा. अपने आस-पड़ोस में लोगो की हेल्प करके और किसी गरीब आदमी को कुछ सहारा देकर और शारारिक रूप से अक्षम लोगो की मदद करके आपको जो ख़ुशी मिलेगी वह कही और आपको नहीं मिल सकती और यह आपके अन्दर एक self-respect भी पैदा करेगा.

अपनी dressing में सुधार करे:

आप किसी भी तरह के प्रोग्राम,पार्टी,शादी या किसी मीटिंग में अगर जाते हो तो अपने ड्रेस का ध्यान जरुर रखे. जब भी कपड़े खरीदने जाये तो ऐसे कपड़े ख़रीदे जो आपको confidence दे. आप कभी भी यह नोट जरुर करना की जब आप अच्छे तरह से तैयार होते है और आपका dressing जब अच्छा रहता है तो आप तब खुद को आत्मविश्वास से भरा हुआ पाएंगे क्योंकि इससे हमको लोगो का सामना करने का आत्मविश्वास मिल जाता है.

जिस चीज से आपका confidence घटता है उसे करते रहे:

कई लोगो ऐसे होते है जो किसी खास कारण से अपना आत्मविश्वास low करते है.किसी को प्रेजेंटेशन के वक्त डर लगता है तो कोई स्टेज पर आने से डरता है. कई लोग तो ऐसे होते है जिनका दिल तो चाहता है की वह यह काम करे लेकिन सिर्फ डर और लोग क्या कहेंगे के कारण उस काम को करने से डरते है. अगर मैं अपनी बात करूँ तो जब मैंने n.g.o. में पहली बार काम करा तब मुझे मीटिंग में अपने साथियो के साथ बात करने में घबराहट होती थी जिस कारण मैं अपनी बात को सही ढंग से नहीं रख पाता था. जो मेरे confidence को पूरा low कर देता था.

लेकिन धीरे-धीरे मैंने कोशिश करी और इसमें सफलता पाई और आज न कोई घबराहट है न confidence low होता है. इसलिए आप भी उस चीज को बार-बार करिए जो आपके आत्मविश्वास को कम करता है.

दूसरो से अपनी तुलना न करे:

अगर आपका confidence low होता है तो इसका main reason आपका अपनी तुलना दूसरो से करना है. अगर आप देखेंगे तो यह पाएंगे की आप हमेशा उन लोगो की तरह बनना चाहते है जो आपकी नजर में आपसे बेहतर या सफल है. यह आपके लिए आत्मविश्वास के लिए बहुत बड़ी बात होती है जो आपके आत्मविश्वास को बिलकुल जीरो कर देता है. आपको यह ध्यान रखना चाहिए की हर व्यक्ति की situatian और हालात अलग-अलग होते है.

क्या पता उस आदमी को आपसे बेहतर हालात और मौके मिले हो जिस कारण वह सफल हुआ हो. इसलिए किसी भी व्यक्ति को कामयाब देखकर खुद से तुलना न करे बल्कि अपनी प्रतिभा और ताकत को अपना औजार बनाये. अपने लक्ष्य तय करे और उसे हासिल करने की सोचे.

अपना कार्य समय पर पूरा करे:

आप अपने दिनभर के कार्यो का टाइम टेबल बना ले.आपने एक दिन में क्या-क्या करना है वह पहले ही सोच ले और उसके बाद सुबह से ही अपने कार्यो को पूरा करने के लिए जुट जाए. अगर आप अपने works को निश्चित समय के अन्दर पूरा करते है तो यह आपके आत्मविश्वास को बहुत ही बढ़ा देगा.

दोस्तों ! हमारी ज़िन्दगी का जो समय है वह दिन-प्रतिदिन कम होता रहेगा. कब हम युवा से बुड्ढे हो जाये समय के साथ पता ही नहीं चलेगा. अपने low-confidence के कारण life में घबराओ मत.जीवन में सफलता के लिए confidence बहुत ही आवश्यक है. बिना confidence के शायद ही कोई व्यक्ति सफल हो पाए. अगर आप प्रैक्टिस करोगे तो आप अपना confidence आसानी से boost कर सकते है.

इसके लिए जरुरत है तो बस अभ्यास की. आप इस बात को जान लिजिये की आपका confidence आपके looks,आपके घर के हालात, समाज की दशा, आपकी शिक्षा या पैसो पर depend नहीं करता बल्कि यह तो आपके अन्दर से आता है. अगर आप self-confident है तो बिना आपके permission के कोई भी बाहरी तत्व आपको low-confidence feel नहीं करा सकता. इसलिए अपना confidence को बढ़ाये और बढ़ा ले कदम सफलता की ओर.

इंग्लेंड का वेल्स बचपन से ही बहुत पतला था, पर हिम्मत देखते बनती थी | सिपाही से सेनापति बना | उसने इसे मोर्चे जीते जितकी सफलता कि किसी को आशा नहीं थी } एक लड़ाई में उसका दाहिना हाथ चला गया, तो भी उसने हिम्मत नहीं हारी | दुसरे मोर्चे में एक आख चली गई | सर्कार ने उसे अपाहिजों कि पेशन देनी चाही तो उसने इनकार कर दिया | अगले मोर्चे पर वह पहले से भी अधिक उत्साह से लड़ने गया |लड़ाई जितने का उसे विश्वास था क्योंकि उसके पास सुझबुझ वाला दिमाग और हिमात वाल कलेजा था |

अपने ऊपर विश्वस करना, अपनी शक्तियों पर विश्वास करना एक एसा दिव्य गुण है जो हर बड़े-से-बड़े काम को करने योग्य साहस, विचार एवं योग्यता उत्पन्न करता है, अर्थात जब confidence के काम किया जाता है उस मनुष्य कि सोचने कि और काम करने कि शक्ति काफी ज्यादा होती है |

एक उदहारण अपने bollywood का star Shahruk Khan (SRK) का लेते है जिसने अपने career को अच्छा करने के लिए क्या कुछ किया | SRK जब star नहीं था तब से confidence रखा था कि - मैं एक दिन बड़ा star बनुगा - और आज पूरी दुनिया उसे जानती है और वह जहा कही भी है अपने कर्म कि वजह से है क्योंकि Bollywood में hero तो बहुत आए और गये but ये hero न केवल india में बल्कि india के बहार विदेशों में भी बहुत नाम कमाया था तो dear friends जरा सोचिये अगर SRK ने पहले ही हार मान ली होती तो आज वो कहा होता, जीवन में कठिनाइयाँ तो उसे भी बहुत सहनी पड़ी थी लेकिन confidence को बनाये रख कर उन कठियानियों से भी बहुत लड़ा तब जाकर वह सफल हुआ |

जब संसार में अन्य लोग आगे बढ़ सकते है, उन्नति कर सकते है, तब क्या कारन है कि उन्ही कि तरह हाथ-पाँव और बुद्धि-विवेक पाने पर आप सफल नहीं हो सकते |


About allinoneindia.net


Welcome to All In One India | allinoneindia.net is a junction , where you opt for different service and information.

Follow Us


© 2016 to 2018 www.allinoneindia.net , All rights reserved.