World Cup 2019: विश्वकप में लागू होंगे ICC के ये 7 खास नियम, आप भी जानें


World Cup 2019: विश्वकप में लागू होंगे ICC के ये 7 खास नियम, आप भी जानें

स्पोर्ट्स डेस्क। क्रिकेट विश्वकप 2019 की 30 मई से शुरुआत होने जा रही है। इस टूर्नामेंट में इस बार कई नए नियम देखने को मिलेंगे। इंग्लैंड में वर्ल्ड कप के दौरान आपको इन नए नियमों की बानगी भी नजर आएगी। पिछला वन डे वर्ल्डकप 2015 में खेला गया था। उसके बाद से लेकर अब तक आईसीसी द्वारा क्रिकेट में 7 नए नियमों को लागू किया गया है। ऐसे में ये सभी 7 नियम इस टूर्नामेंट में लागू होते नजर आएंगे। हालांकि ये नियम पूर्व में ही लागू हो चुके हैं, लेकिन बड़े स्तर के किसी टूर्नामेंट में इनका इस्तेमाल होता नजर आएगा। जानते हैं उन नियमों को जो इस बार टूर्नामेंट में लागू होंगे।

दो बार गेंद बाउंस तो होगी नो बॉल
वर्ल्डकप के दौरान होने वाले मैचों में अगर कोई गेंदबाज गेंद फेंकता है और वह गेंद दो बाउंस के साथ यदि बल्लेबाज तक पहुंचती है तो वह नो बॉल होगी। पहले ऐसी बॉल नो बॉल देने का नियम नहीं था।
बैट अगर ऑन द लाइन हो तो भी होगा रनआउट
पूर्व में रनआउट, स्टंपिंग के केस में बैट लाइन पर होने पर बल्लेबाज को नॉटआउट दिया जाता था, लेकिन अब बैट ऑन द लाइन होने की सूरत में भी बल्लेबाज को आउट दिया जाएगा।
बैट की चौड़ाई और मोटाई भी हुई तय
मैच के दौरान गेंदबाजों के लिए बराबरी का मुकाबला रखने के लिए इस बार बैट की चौड़ाई और मोटाई भी तय की गई है। बल्ले की चौड़ाई 108 मि.मी, मोटाई 67 मि.मी और कॉर्नर पर 40 मि.मी से ज्यादा नहीं हो सकेगी।
खराब व्यवहार खिलाड़ियों को पड़ेगा भारी
मैच के दौरान अंपायर को अगर किसी खिलाड़ी का व्यवहार खराब लगता है तो वह उस खिलाड़ी को ICC कोड ऑफ कंडक्ट की लेवल 4 की धारा 1.3 के तहत दोषी मानते हुए तत्काल मैच से बाहर भेज सकता है।
लेग बाई और बाई के रन भी अलग से जुड़ेंगे
कोई गेंदबाज पूर्व में नो बॉल फेंकता था तो उस पर बाई या लेग बाई से बने रन नो बॉल में जुड़ते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। नोबॉल का रन अलग से और बाई-लेग बाई का रन अलग से जोड़ा जाएगा।
हेलमेट से आउट, हैंडल द बॉल पर नॉटआउट
बल्लेबाज का शॉट फील्डर के हेलमेट से लगकर उछला और किसी फील्डर ने कैच ले लिया तो बल्लेबाज को आउट दिया जाएगा। लेकिन हैंडल द बॉल की स्थिति में बल्लेबाज को नॉटआउट रहेगा।
अंपायर्स कॉल पर रिव्यू खराब नहीं होगा
कोई बल्लेबाज या फील्डिंग टीम अगर DRS लेती है और अंपायर्स कॉल के चलते अंपायर का फैसला बरकरार रहता है, तो टीम द्वारा लिया गया रिव्यू बेकार नहीं होगा।





© 2016 to 2019 www.allinoneindia.net , All rights reserved.