Cricket World Cup 2019 : धोनी का शतक, 2011 की वर्ल्ड कप जीत से जुड़ सकता है यह संयोग


Cricket World Cup 2019 : धोनी का शतक, 2011 की वर्ल्ड कप जीत से जुड़ सकता है यह संयोग

मल्टीमीडिया डेस्क। महेंद्रसिंह धोनी ने मंगलवार को कार्डिफ में क्रिकेट वर्ल्ड कप के दूसरे अभ्यास मैच में बांग्लादेश के खिलाफ आक्रामक शतक लगाकर भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई। धोनी के शतक से मिली जीत टीम इंडिया के लिए शुभ संकेत साबित हो सकती है क्योंकि उन्होंने इसी तरह 2011 वर्ल्ड कप के दूसरे अभ्यास मैच में शतक लगाया था और इसके बाद भारत ने वर्ल्ड कप जीता था।

भारत का बल्लेबाजी शीर्षक्रम दोनों अभ्यास मैचों में असफल रहा है। टीम को पहले मैच में न्यूजीलैंड के हाथों हार झेलनी पड़ी थी। इसके बावजूद कप्तान विराट कोहली खुश थे क्योंकि निचले क्रम के बल्लेबाजों रवींद्र जडेजा और कुलदीप यादव ने जुझारू प्रदर्शन किया था। बांग्लादेश के खिलाफ कार्डिक में दूसरे अभ्यास मैच में भारत की शुरुआत खराब रही और उसने 102 रनों के अंदर शीर्षक्रम के चार बल्लेबाजों के विकेट गंवाए थे। इसके बाद धोनी (113) और केएल राहुल (108) के बीच पांचवें विकेट के लिए हुई 164 रनों का साझेदारी से भारत ने 7 विकेट पर 359 रनों का विशाल स्कोट खड़ा कर 95 रनों से जीत दर्ज की।

इस मैच की खास बात रही धोनी का शतक। धोनी ने विस्फोटक बल्लेबाजी कर 78 गेंदों का सामना 8 चौकों और 7 छक्कों की मदद से 113 रन बनाए। इससे पहले धोनी ने 2011 वर्ल्ड कप में न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे अभ्यास मैच में भी तेज शतक लगाया था। उन्होंने 16 फरवरी 2011 को चेन्नई में 64 गेंदों में 11 चौकों और 3 छक्कों की मदद से नाबाद 108 रन बनाए थे। उनके शतक से भारत ने 5 विकेट पर 360 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था।
इसके बाद वर्ल्ड कप में भारत ने 28 साल बाद करिश्मा करते हुए मुंबई में हुए फाइनल में श्रीलंका को हराकर दूसरी बार वर्ल्ड कप जीता था। धोनी ने कप्तानी पारी खेलते हुए खिताबी मुकाबले में भी दमदार बल्लेबाजी की थी और विजयी छक्का लगाया था। धोनी का दूसरे अभ्यास मैच में शतक लगाना टीम इंडिया के लिए शुभ संकेत साबित हो सकता है। धोनी का यह अंतिम वर्ल्ड कप है और वे इसे यादगार बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहेंगे।




© 2016 to 2019 www.allinoneindia.net , All rights reserved.